Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

ट्रेन में टीटीई भी लुटवा सकता है आपका सामान, आरपीएफ डीजी ने नोट में जताया शक

भारतीय रेलवे ने ट्रेन यात्रियों के सामान की चोरी को लेकर गहरी चिंता जाहिर की है। ऐसा इसलिए हैं क्योंकि चोरी की कुछ घटनाओं में ट्रेन कर्मचारियों के नाम भी सामने आए हैं। दरअसल रेलवे के आंतरिक विश्लेषण में ट्रैवलिंग टिकट परीक्षक (टीटीई) सहित 28 हाउस स्टाफ कर्मचारी के नाम चोरी की 21 घटनाओं में सामने आए हैं। आंकड़े इस साल जनवरी तक के हैं। रेलवे ने सामान चोरी मामले में चोर और अपने ही स्टाफ, रेलवे ठेकेदारों को गिरफ्तार किया।

मामले में डायरेक्टर जनरल ऑफ रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ डीजी) धर्मेंद्र कुमार ने बताया, ‘आंकड़ों से साफ है कि चोरी की कुछ घटनाओं में यात्रियों से संपर्क भी नहीं किया जाता है, इसलिए अपराधियों और रेलवे कर्मचारियों की चोरी की भागदारी या संलिप्तता को पूरी तरह से खारिज नहीं किया जा सकता है।’

एक रिपोर्ट में सामने आया है कि चोरी के अन्य मामलों दो टीटीई, 15 कोच अटेंडेंट, 5 लाइन मैंनेजिंग, 3 पेंट्री वेटर्स और तीन हाउसकीपिंग के कर्मचारी शामिल थे। नोट में कुमार ने आगे बताया कि चोरी के इन मामलों पर गंभीरता से विचार किया जा सकता है। चोरी के ज्यादातर मामले मोबाइल फोन, महिला पर्स, पुरुषों की जेब से चोरी, सोने के गहने, लैपटॉप और नकदी के थे।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।