Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

बारिश ने रोकी मुंबई की रफ्तार, अगले 48 घण्टों में भारी बारिश की संभावना

मुंबई: भारी बारिश ने देश की आर्थिक राजधानी ‘मुंबई’ की रफ़्तार पर ब्रेक लगा दिया है हालांकि इस दौरान मंगलवार को बारिश थम जाने के कारण लोगों को थोड़ी राहत मिली।

मूसलाधार बारिश के कारण जन-जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। जगह-जगह जलभराव के कारण मुंबई की सूरत बिगड़ी हुई नज़र आई। जलभराव से पैदा जाम की समस्या से लोगों की मुसीबतें बढ़ गई।

वहीं मुंबई की लाइफलाइन लोकल ट्रेन की रफ़्तार थम जाने के कारण सैंकड़ों मुसाफिर की परेशानियां भी बढ़ती हुई नज़र आई।

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की टीम ने मंगलवार को नाला सोपारा में स्थित वडोदरा एक्सप्रेस से 1500 फंसे यात्रियों का रेस्क्यू किया।

पानी का स्तर 260 मिमी तक पहुंचने के बाद नालासोपारा स्टेशन पर रेलवे ट्रैक पानी में डूबे हुए नज़र आये। इसी बीच पालघर के भोयापाड़ा से 120 लोगों का रेस्क्यू किया गया।

नदियों में तब्दील हुई सड़कों ने बीएमसी की भी पोल खोल दी है। खराब मौसम का असर न सिर्फ सड़कों पर बल्कि हवाई यात्रा पर भी देखने को मिला।

भारी बारिश के चलते जलभराव और बाढ़ जैसी स्थिति से परेशान लोगों की समस्या को देखते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ने तैयारियों को लेकर कई सवाल उठाए।

हाई कोर्ट ने कहा कि मॉनसून में हर साल रेल की पटरियां डूब जाती हैं लेकिन रेलवे ने इसे रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। मूसलाधार बारिश से उपनगरीय रेल सेवाओं के ठप पड़ने के बाद अदालत ने यह टिप्पणी की।

भारी बारिश के कारण नाला सोपारा लाइन रुकी हुई है। विरार से चर्चगेट के बीच  ट्रैक पर जलभराव की वजह से लोकल ट्रेन 10 -15 मिनट की देरी से चल रही है।

दहीसर, बोरिवली, मलाड, जोगेश्वरी, अंधेरी, सांताक्रूज, माहिम, कुर्ला, परेल, दादर, चेंबुर, किंग सर्किल, सियॉन, वडाला, मस्जिद बंदर, घाटकोपर, पोवाई, भांडुप और अन्य जगहों पर भारी जलजमाव है, जिससे यातायात और राहगीरों की गति थम गई है।

मुंबई का आलम ये है कि सड़कों पर नावें चलती हुई भी देखी जा सकती है। मुंबई और आसपास के जिलों में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और दमकल कर्मियों और अन्य एजेंसियों को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट पर रखा गया है।