Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

अडाणी समूह को तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डा सौंपने के ख़िलाफ़ केरल विधानसभा में प्रस्ताव पास

नई दिल्ली: सोमवार को केरल असेंबली ने एकमत से तिरुअनंतपुरम एयरपोर्ट को केंद्र सरकार द्वारा अडानी समूह को दिए जाने के फैसले के खिलाफ प्रस्ताव पास किया। इसके साथ ही इस प्रस्ताव में एयरपोर्ट के मैनेजमेंट को राज्य सरकार के स्पेशल पर्पज वेहिकल (एसपीवी) को दिये जाने की मांग की गयी है।

चीफ मिनिस्टर पिनराई विजयन ने कहा कि केंद्र सरकार को अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए और एयरपोर्ट का मैनेजमेंट स्पेशल पर्पज वीकल को सौंपना चाहिए, जिसमें राज्य सरकार को भी हिस्सेदारी दी जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने भी एयरपोर्ट के टेंडर के लिए उतनी ही कीमत देने की बात कही थी, जितनी अडानी इंटरप्राइजेज ने बोली लगाई है। ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से एयरपोर्ट के निजीकरण के फैसले को सही नहीं कहा जा सकता।

उन्होंने कहा कि सरकार सार्वजनिक रूप से अडानी समूह पर हमला बोलती है लेकिन उससे करीबी एक कम्पनी की सलाह लेकर उनकी मदद की। उन्होंने साथ ही “आपराधिक साजिश” का आरोप भी लगाया।

चेन्निथला ने यह भी जानना चाहा कि सीआईएएल (कोचिन इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड), हवाई अड्डा कम्पनी को सलाहकार के रूप में क्यों नियुक्त नहीं किया गया। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘अडानी समूह को मदद करने के लिए साजिश रची गई है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के हित को ध्यान में रखते हुए विपक्ष प्रस्ताव का समर्थन कर रहा है।’’

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।