Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

डॉ. कफील खान की रिहाई के लिए प्रियंका ने लिखा यूपी के CM योगी को पत्र

गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान की रिहाई की मांग को लेकर सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक मुहिम चल रही है। इस मुहिम का हिस्सा अब कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा भी हो गई हैं। प्रियंका ने गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखकर डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग की।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा कि, ”मुझे उम्मीद है कि आप अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ कफील को न्याय दिलवाने का पूरा प्रयास करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने गुरु गोरखनाथ के एक कथन का हवाला देते हुए लिखा ‘मन में रहिणां, भेद न कहिणां, बोलिबा अमृत वाणी, अगिला अगनी होईबा, हे अवधू तौ आपण होईबा पाणीं। इन पंक्तियों का भावार्थ है कि किसी से भेद न करो, मीठी वाणी बोलो, यदि सामने वाला आग बनकर जला रहा है तो हे योगी तुम पानी बनकर उसे शांत करो।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ कथित तौर पर भाषण देने के सिलसिले में कफील खान को गिर’फ्तार किया गया था। फिलहाल वह मथुरा जिला कारागार में बंद हैं।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।