Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

देवी के सामने गीत अच्छा न गाने पर पीट पीट कर मार डाला मांगणियार गायक आमद खान को

राजस्थान में 27 सितंबर को नवरात्र रतजगे के दौरान आमद खान नामक एक मांगणियार (मुसलिम लोकगायक) को पीट-पीट कर मार डाला गया।

हत्या का जिस ‘भोपा’ पुजारी रमेश सुथार पर मुख्य आरोप है, कहते हैं उसे “लगा” कि लोकगायक ने इस तरह नहीं गाया कि देवी प्रसन्न होकर ‘परचा’ (चमत्कार की अनुकंपा) देतीं।

पुजारी ने आमद ख़ान से झगड़ते हुए कहा कि उसे गाना नहीं आता। किसी 52 वर्षीय कलाकार का इससे बड़ा अपमान क्या हो सकता है। वह वहां से अपने गांव चल दिया। नशे में धुत “श्रद्धालु” गायक को रास्ते से जीप में उठा लाए। मिलकर सभी ने आमद खान को जमकर पीटा।

इतना पीटा की वह मर गया। फिर मृतक के परिजनों को पुलिस से दूर रहने की धमकी दी गई। समुदाय के लोग आख़िर पुलिस तक पहुंच गए हैं। मुख्य आरोपी गिरफ़्तार हुआ, पर अब इलाक़े की मांगणियार बिरादरी पर बन आई है। उन्हें गांव से दरबदर कर दिया गया है। वे एक शरणार्थी शिविर में हैं। लेकिन ज़िला प्रशासन और नगर पालिका उन्हें रोटी तक नहीं दे पा रहे हैं, क्योंकि “विस्थापितों के लिए बजट नहीं है।”

दादरी से जैसलमेर के इस दांतल गांव तक की दास्तान यह बताने के लिए काफ़ी है कि इन दिनों जान मुसलिम हो तो मौत कितनी सस्ती है। और समूचे समुदाय के लिए ज़िंदगी कितनी भारी। हत्या का एक आरोपी अंदर है, बाक़ी बाहर। कौन जानता है पहलू ख़ान की तरह आमद ख़ान के हत्यारे भी जाँच की गलियों में गुम नहीं कर दिए जाएँगे?