Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

मिज़ोरम में बाढ़ से तबाही, 10 की मौत, कई लापता

एजेंसी

मिज़ोरम के बांग्लादेश से लगे लंगलेई ज़िले के तलाबुंग में भारी बारिश की वजह से बाढ़ के हालात बन गए हैं। बाढ़ की वजह से अब तक 10 लोगों के मारे जाने की सूचना है, जबकि छह अन्य लोग लापता हैं।

अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि असम को राज्य से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 54 लंगलेई, सियाहा, लांगतलाई, सेरछिप और चंफई ज़िलों में भू-स्खलन की वजह से कई स्थानों से कट गया है। बाढ़ और भू-स्खलन से तकरीबन 450 घर तबाह हो गए है।

इंडियन एक्सप्रेस ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया है कि बाढ़ में बहने की वजह से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों की संख्या बढ़ने की भी संभावना जताई जा रही है।

बीते सोमवार सुबह बंगाल की खाड़ी में बने दबाव की वजह से मानसून ने पूर्वोत्तर में ज़ोरदार तरीके से दस्तक दी है और जान माल को नुकसान पहुंचाया है. मानसून की वजह से राज्य में लगातार बारिश हो रही है जिससे पहाड़ी क्षेत्रों में बाढ़ आ गई है।

गुवाहाटी के उप ज़िलाधिकारी ए. अंगामुथु ने बताया कि इस मामले की जांच की ज़िम्मेदारी एडिशनल डिप्टी कमिश्नर पलाश प्रतिम बोरा को दे दी गई है। साथ ही पीड़ितों के परिवारों को चार लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि गुवाहाटी के सभी स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टी कर दी गई। असम जिला प्रशासन के अधिकारियों ने कहा है कि ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियों का जलस्तर ख़रतनाक स्तर की ओर बढ़ रहा है। आॅल इंडिया रेडियो के अनुसार, असम के कामरूप, दरांग, लखीमपुर और हैलाखंडी ज़िलों में बाढ़ और भू स्खलन से तबरीबन 13 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।