Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

मारूति ने कहा कि ओला और उबर जैसी सेवाओं का मंदी से कोई लेना देना नहीं

देश के सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी का कहना है कि ओला, उबर सेवाओं का इस्तेमाल बढ़ना आर्थिक मंदी का बड़ा कारण नहीं है बल्कि इसके उल्ट इस संबंध में किसी नतीजे पर पहुंचने के लिए एक विस्तृत अध्ययन किये जाने की ज़रूरत है।
मारुति सुजुकी के एक शीर्ष अधिकारी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के दावे को सिरे से नकार दिया है कि युवा आबादी में ओला, उबर सेवाओं का इस्तेमाल आर्थिक मंदी की एक बड़ी वजह है। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) के विपणन और बिक्री विभाग के कार्यकारी निदेशक शशांक श्रीवास्तव ने एक इंटरव्यू में बताया कि भारत में कार खरीदने को लेकर धारणा में अभी भी कोई बदलाव नहीं आया है और लोग अपनी आकांक्षा के तहत कार की खरीदते हैं।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा था कि ज्यादातर लोगों की सोच में बदलाव आया है जो अब मासिक किस्तों की अदायगी करते हुए एक कार खरीदने की जगह ओला और उबर जैसे टैक्सी सेवा का फायदा लेना पसंद करते हैं और यह आटो मोबाइल क्षेत्र में मंदी के कई कारणों में से एक है।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।