Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

घर के बाहर मरी हुई गाय मिलने पर भीड़ ने मुस्लिम शख्स को पीटा, मकान में लगाई आग

 

झारखंड के गिरीडीह जिले में मंगलवार को एक मुस्लिम शख्स के घर के बाहर कथित रूप से मृत गाय मिलने के बाद पिटाई का मामला सामने आया। पुलिस के मुताबिक गांव में शख्स के घर के बाहर गाय का शरीर मिलने पर भीड़ ने उसके साथ मारपीट की। यहीं नहीं उन लोगों ने उसके घर के हिस्से में भी आग लगा दी। राजधानी से 200 किलोमीटर दूर देवरी के बेरिया हतीतांद में उस्मान अंसारी पर भीड़ ने हमला कर दिया। मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक भीड़ ने अंसारी की पिटाई कर दी और उसके घर में आग लगा दी।

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता और एडीजी (ऑपरेशंस) आर के मुल्लिक ने कहा, “हमारे जवानों और अधिकारी ने भीड़ के सामने पहुंचे और तुरंत अंसारी तथा उसके परिवार को बचाया।” उन्होंने बताया कि जब पुलिस अंसारी को लेकर अस्पताल जा रही थी, तब भी भीड़ ने उनका रास्ता रोकने की कोशिश। इस दौरान भारी पत्थरबाजी हुई और पुलिसकर्मियों को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायर करना पड़ा। पुलिस अधिकारी के मुताबिक भीड़ को हटाने के लिए पुलिस की ओर से की गई फायरिंग में कृष्णा पंडित नाम का एक शख्स घायल हो गया है। वहीं, करीब 50 पुलिसकर्मी भीड़ द्वारा किए पथराव में घायल हुए हैं।

उन्होंने बताया कि अंसारी और पड़ित दोनों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई। बेहतर उपचार के लिए दोनों को धनबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने बताया कि भीड़ ने बहुत उग्र तेवर अपना रखे थे। स्थिति अब नियंत्रण में है। मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों समेत 200 से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों को घटनास्थल पर तैनात किया गया है।

बता दें कि हाल ही में पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर जिले में गौ-तस्कर होने के शक में तीन लोगों की पीट-पीटकर जान ले ली गई थी। भीड़ द्वारा मारे गए लोगों पर इलाके से गाय चोरी करने का आरोप था। घटना के बाद पुलिस से तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया है। जिन लोगों की मौत हुई उनके नाम नसीरुल हक (30 साल), मोहम्मद समीरुद्दीन (32 साल) और मोहम्मद नासिर (33 साल) थे। मिली जानकारी के मुताबिक, लगभग 10 लोगों का एक ग्रुप गुरुवार की रात को गांव में घुसा। वे लोग वैन गाड़ी में आए थे। कथित तौर पर उन लोगों ने दो घरों से गायों को उठा लिया था और जैसे ही वे तीसरे घर की तरफ बढ़े तब ही किसी ने शोर मचाकर सबको सतर्क कर दिया। इसपर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। दस में से बाकी लोग तो भाग गए लेकिन तीन पकड़ में आ गए जिनको लोगों ने पकड़कर जमकर पीटा।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।