Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

तृणमूल कांग्रेस में ममता बनर्जी से बगावत, विधायकों ने कहा रामनाथ कोविंद को देंगे समर्थन

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने भले ही राष्ट्रपति पद के लिए विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार को समर्थन देने की बात की हो लेकिन त्रिपुरा में पार्टी के विधायकों ने राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का फैसला किया है। तृणमूल के सभी छह विधायकों ने 1 जुलाई यहां बैठक की और राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद को समर्थन देने का फैसला किया। राज्य विधानसभा में तृणमूल के नेता सुदीप राय बर्मन ने संवाददाताओं से कहा कि हम ऐसे उम्मीदवार को समर्थन नहीं देंगे जिनका समर्थन माकपा कर रही हो। उन्होंने कहा, ‘‘हम 2018 के विधानसभा चुनाव में माकपा को त्रिपुरा की सत्ता से हटाने के लिए कठिन मेहनत कर रहे हैं। इसलिए हम मीरा कुमार के लिए मतदान नहीं कर सकते।’’

उन्होंने कहा कि तृणमूल विधायकों ने अपने फैसले से भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव को सूचित कर दिया है। राम माधव ने कल रात उनसे कोविंद को समर्थन देने की अपील की थी। बता दें इस साल 24 जुलाई को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। वहीं नए राष्ट्रपति चुनाव के लिए 20 जुलाई तक निर्वाचन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। चुनाव के लिए नामांकन दायर करने और वापिस लेने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। वहीं अब 17 जुलाई को मतदान होगा और 20 जुलाई को मतगणना की जाएगी।

गौरतलब है राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बीजेपी के पास संख्यबल ज्यादा है लेकिन कांग्रेस चुनावी मैदान को खाली नहीं छोड़ना चाहती थी। ऐसे में कांग्रेस समेत 17 विपक्षी दलों ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को अपना राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया था। एक तरफ जहां तृणमूल कांग्रेस के 6 विधायकों ने कोविंद का समर्थन करने को कहा है, वहीं दूसरी तरफ महागठबंध की अहम पार्टी जदयू भी उन्हें समर्थन देने के अपने फैसले पर अटल है। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस और जदयू की दूरियां बढ़ती हुई नजर आ रही है वहीं अब ममता बनर्जी के सामने भई नई मुश्किल खड़ी हो गई है।