Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

जानिए बीते 7 साल के दौरान देश में हुईं बड़ी ट्रेन दुर्घटनाएं

भारत में बीते सात वर्षों के दौरान हुई भीषण ट्रेन दुर्घटनाओं पर एक नजर -: * 19 अगस्त, 2017 : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए, जिसमें 20 से अधिक लोगों की मौत हो गई और 150 से अधिक यात्री घायल हो गए.

* 21 जनवरी, 2017 : आंध्र प्रदेश के विजयानगर में जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतर गई, जिसमें 29 यात्रियों की मौत हो गई और 50 से अधिक यात्री घायल हुए.

* 28 दिसंबर, 2016 : उत्तर प्रदेश के कानपुर से 50 किलोमीटर दूर रूरा में सियालदा-अजमेर एक्सप्रेस पटरी से उतर गई, जिसमें दो यात्रियों की मौत हो गई और 65 यात्री घायल हुए.

* 20 नवंबर, 2016 : कानपुर के ही नजदीक पुखरयान स्टेशन के पास पटना-इंदौर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए, जिसमें 149 यात्रियों की मौत हो गई और 300 से अधिका यात्री घायल हुए.

* 4 अगस्त, 2015 : मध्य प्रदेश के हरदा जिले में मुंबई-वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर गए और कुछ डिब्बे माचक नदी में गिर गए, जिसमें 25 यात्रियों की मौत हो गई और 25 अन्य यात्री घायल हुए. कुछ ही मिनट के बाद उसी जगह जनता एक्सप्रेस के डिब्बे बेपटरी हो गए.

* 20 मार्च, 2015 : उत्तर प्रदेश के रायबरेली में देहरादून-वाराणसी जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गए, जिसमें 39 यात्रियों की मौत हो गई और 150 यात्री घायल हो गए.

* 4 मई, 2014 : महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में नागोथाणे और रोहा स्टेशनों के बीच दिवा जंक्शन-सावंतवादी पैसेंजर ट्रेन पटरी से उतर गई, जिसमें 20 यात्रियों की मौत हो गई और 100 यात्री घायल हो गए.

* 26 मई, 2014 : उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले में खलीलाबाद स्टेशन के नजदीक गोरखपुर जा रही गोरखधाम एक्सप्रेस एक अन्य मालगाड़ी से जा टकराई, जिसमें 25 यात्रियों की मौत हो गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गए.

* 10 जुलाई, 2011 : उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में दिल्ली को जा रही कालका मेल के 15 डिब्बे पटरी से उतर गई, जिसमें 70 यात्रियों की मौत हो गई और 100 से अधिक यात्री घायल हो गए.

* 28 मई, 2010 : पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मिदनापुर जिले में नक्सलवादियों द्वारा पटरी उखाड़ने के चलते ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस पटरी से उतर गई, जिसमें 148 यात्रियों की मौत हो गई.