Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

महाराष्ट्रः पत्ते पर मोदी सरकार और कर्ज़ माफी लिखकर आत्महत्या की किसान ने

महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में एक 45 वर्षीय किसान ने पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली. मीडिया में आई ख़बर के अनुसार टिटवाली गांव के रहने वाले किसान प्रकाश मनगांवकर ने बीते शनिवार को कर्ज़ न चुका पाने के चलते अपनी जान दे दी.

प्रकाश के परिवार में उनकी मां, पत्नी और बेटा-बेटी हैं. ख़बरों के मुताबिक प्रकाश ने आत्महत्या की जगह पर पत्तों पर चूने से कुछ लिखा था. एक पत्ते पर मोदी सरकार और दूसरे पत्ते पर कर्ज माफ़ी लिखा था.

प्रकाश के पास 2.5 हेक्टेयर ज़मीन थी. उन्होंने इसमें से आधी ज़मीन को बेचकर एक मिनी ट्रक खरीदा था, जो पिछले साल एक दुर्घटना में बर्बाद हो गया. यह ट्रक भी उन्होंने लोन पर लिया था, जिसका 2.68 लाख रुपये लोन बाकी है. इसके अलावा उन पर 1.25 लाख रुपये कृषि के लिए गया कर्ज़ भी बाकी था.

ज्ञात हो कि 2014 लोकसभा चुनाव प्रचार में नरेंद्र मोदी ने स्थानीय जनता से वादा किया था कि अगर वो सत्ता में आते हैं, तो किसानों की आत्महत्या के सिलसिले पर विराम लग जाएगा. वहीं भाजपा सांसद नाना पटोले ने सोमवार 18 सितंबर को गांव पहुंचकर मृत किसान के परिवार से मुलाक़ात की.

गांववालों से बात करते वक़्त सांसद नाना पटोले ने कहा कि अगर किसानों की आत्महत्या नहीं रुकती, तो वो सांसद पद से इस्तीफ़ा देने को तैयार हैं. हाल ही में पटोले ने देवेंद्र फडणवीस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनके आने के बाद राज्य में किसान आत्महत्या में इजाफा हुआ है.

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।