Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

शिवसेना का गडकरी को जवाब, मुम्बई में भी’ड़ कम करनी है तो यूपी बिहार में रोज़गार पैदा करें

मुंबई: मुंबई में भीड़ कम करने संबंधी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की टिप्पणी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने सोमवार को कहा कि अगर उत्तर प्रदेश और बिहार में पुणे और मुंबई जैसे स्मार्ट शहर बना लिए जाएं तो देश की आर्थिक राजधानी का जनसंख्या घनत्व अपने आप कम हो जाएगा।

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय में दावा किया गया है कि लॉकडाउन के दौरान अपने गृह प्रदेशों को गए करीब 1.50 लाख प्रवासी मजदूर महाराष्ट्र लौट आए हैं क्योंकि उनके पास वहां ‘कोई काम नहीं है’।

शिवसेना ने कहा कि कोरोना सं’कट के दौरान मुंबई से लगभग 7-8 लाख प्रवासी अपने मूल राज्यों यूपी, बिहार, बंगाल, ओडिशा आदि के लिए चले गए थे। सं’कट के समय पुणे से लगभग 3.5 लाख श्रमिक वापस अपने राज्यों को चले गए थे। इसकी वहज से कुछ समय के लिए इन शहरों में जनसंख्या कम हो गई थी।

इसने कहा, “यह साफ तौर पर दिखाता है कि कोरोना वाय’रस के खतरे से ऊपर भूख का ख’तरा है। लोग जोखि’म लेने के लिए तैयार हैं और नौकरी की तलाश में सफर कर रहे हैं।” शिवसेना ने पूछा कि केंद्र सकार ने जून 2015 में ‘स्मार्ट सिटी’ मिशन शुरू किया था लेकिन इतने वर्षों में कितने शहर स्मार्ट सिटी बने?

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।