Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages

अमेरिका के पूर्व NSA का दावा, चुनाव जीतने के लिए ट्रंप ने मांगी थी चीन से मदद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने दावा किया है कि ट्रंप ने दोबारा राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मदद मांगी थी। बोल्टन ने ट्रंप पर इसके साथ-साथ और भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं, जिनका जिक्र उन्होंने उनके द्वारा लिखी अपनी अप्रकाशित किताब ‘द रूम वेयर इट हैपेंड: ए व्हाइट हाउस मेमॉयर’ में किया है। किताब के कुछ अंश अमेरिका के सभी प्रमुख अखबारों में छपे हैं।

व्हाइट हाउस ने कहा है कि बोल्टन की आगामी किताब में गोपनीय सूचनाएं हैं और न्याय विभाग ने इस किताब के प्रकाशन पर अस्थायी रोक लगाने की मांग की है। ‘द रूम वेयर इट हैपन्ड: अ व्हाइट हाउस मेमोयर’ नाम की इस किताब के अंश द न्यूयॉर्क टाइम्स, द वॉशिंगटन पोस्ट और द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने बुधवार को छापे।

बोल्टन की इस किताब का नाम ‘द रूम वेयर इट हैपंड: ए व्हाइट हाउस मेमोयर’ है। यह 23 जून को प्रकाशित होगी। ट्रंप प्रशासन ने इसके वितरण को रोकने के लिए मुकदमा दायर किया है। प्रशासन ने यह दावा किया है कि इसमें ऐसी कई वर्गीकृत जानकारी है जो राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करेंगी और पुस्तक का प्रकाशन अपूरणीय क्षति का कारण होगा।

बोल्टन का यह दावा ऐसे समय पर आया है जब ट्रंप 2020 के चुनाव के लिए चीन को केंद्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे हैं। जर्नल में प्रकाशित अंश के अनुसार, शी के साथ इसी बैठक में चीनी नेता ने एक लाख उइगुर मुसलमानों को कैद करने के लिए बनाए गए शिविरों का बचाव किया था। ट्रंप ने शी को शिविर निर्माण को बढ़ाने के लिए कहा था।

Democracia एक गैर-लाभकारी मीडिया संस्था हैं। जो पत्रकारिता को सरकार-कॉरपोरेट दबाव से आज़ाद रखने के लिए वचनबद्ध है। इसे जनमीडिया बनाने के लिए आर्थिक सहयोग करें।