Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के हाथ चौथी बार देश की कमान

जर्मनी में आम चुनाव के तहत रविवार को मतदान हुआ. एग्जिट पोल के मुताबिक चांसलर एंजेला मर्केल को चौथी बार देश की कमान मिली है. वहीं धुर दक्षिणपंथी राष्ट्रवादी अल्टरनेटिव फॉर जर्मनी (एएफडी) पार्टी ने राष्ट्रीय संसद में अपनी पहली सीट जीत कर इतिहास रच दिया है.

इससे पहले मर्केल ने मध्य बर्लिन में अपना वोट डाला. उस वक्त हल्की बारिश भी हो रही थी और उनके पति उन्हें बारिश से भींगने से बचाने के लिए छाता थामे हुए थे. चुनाव सर्वेक्षणों के मुताबिक मर्केल की कंजरवेटिव सीडीयू /सीएसयू गठजोड़ को अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी मार्टिन स्कल्ज नीत मध्य वाम सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी (एसपीडी) पर दोहरे अंकों में बढ़त हासिल की है.

जर्मनी की संघीय संसद के निचले सदन ‘बुंदेसटैग’ में प्रवेश के लिए चार पार्टियों के पांच फीसदी की सीमा पार करने का अनुमान है. ऐसे में अगली सरकार के गठन में महीनों लग सकते हैं. हालांकि मुख्य धारा की पार्टियों ने इस्लाम विरोधी, आव्रजन विरोधी ‘अल्टरनेटिव फॉर जर्मनी’ (एएफडी) से बात करने से इनकार किया है जिसे 11 से 13 फीसदी वोट पड़ा है और ये जर्मनी की तीसरी सबसे मज़बूत पार्टी के रूप में उभरी है.

गौरतलब है कि द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद से पहली बार ‘बूनदशताग’ में असली नाज़ियों के प्रवेश से सतर्क नेताओं ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में मतदाताओं से अनुरोध किया कि वो दक्षिणपंथी एएफडी को खारिज़ कर दें. यूरोपीय संसद के पूर्व प्रमुख स्कल्ज ने शुक्रवार को एक रेली में कहा, ‘जर्मनी के लिए ये विकल्प कोई विकल्प नहीं है. वो हमारे राष्ट्र के लिए शर्म का विषय हैं.’ ताज़ा सर्वेक्षणों में मर्केल के कंजरवेटिव ब्लॉक को 34-36 फीसदी जबकि एसपीडी को 21-22 फीसदी समर्थन मिलने की बात कही गई थी.