Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

JNU अकादमिक काउंसिल की बैठक में हंगामा,छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित पांडे के साथ बदसुलूकी

डेमोक्रेसिया ब्यूरो

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में आयोजित 143वीं अकादमिक काउंसिल की बैठक में शिक्षकों और छात्रसंघ पदाधिकारियों के बीच जमकर हंगामा हुआ और झड़प भी हुई। जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित कुमार पांडेय ने आरोप लगाया कि बैठक के दौरान शिक्षकों ने उनकी कमीज़ का कॉलर पकड़कर बदतमीज़ी की। छात्रों-शिक्षकों की एक न सुनी गई जबकि उनके ढेरों सवाल थे। वीसी ने एक स्वर में कहा कि सारे एजेंडे पास।

विवि शिक्षक संघ का कहना है कि बैठक में बिना बहस के ही सारे प्रस्ताव पास कर दिए गए, जो नियमों के खिलाफ है। जबकि पूरे प्रकरण पर काउॆसिल  के सदस्यों का कहना है कि शिक्षक संघ और छात्रसंघ ने योजनाबद्ध तरीके से बैठक में रूकावट  डालने की कोशिश की थी।

जेएनयू विवि प्रशासन ने विभिन्न प्रस्ताव पर चर्चा करने और उन्हें अंतिम मंजूरी देने के लिए 9 मई 2017 को 143वीं एसी बैठक आयोजित की थी। जिसे शोर-शराबे के कारण स्थगित कर दिया गया था और 16 जून के लिए बैठक को दोबारा प्रस्तावित किया गया था। हालांकि छात्र और शिक्षक इस रोज़ बैठक नहीं चाहते थे, इसके लिए इन्होंने आपत्ति भी दर्ज की थी।

जेएनयू शिक्षक संघ की अध्यक्ष आएशा क़िदवई का कहना है कि बैठक में कुल 60 मैंबर मौजूद थे। जिनमें से 40 सदस्य यूजीसी नोटिफिकेशन के प्रस्ताव समेत अन्य प्रस्तावों पर चर्चा चाहते थे, लेकिन वीसी ने किसी भी सदस्य को चर्चा का मौका नहीं दिया और बिना बहस के ही सभी प्रस्ताव पास कर दिए गए। बैठक पूरी तरह असंवैधानिक  तरीके से आयोजित की गई थी। उन्होंने कहा कि शिक्षक संघ चाहता था कि एमएससी मैथमेटिक्स विषय पर कोर्स शुरू करने को लेकर चर्चा आयोजित की जाए, लेकिन कुलपति ने किसी भी विषय पर कोई चर्चा नहीं होने दी और इस विषय को दूसरी बैठक के लिए टाल दिया। वहीं छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित कुमार पांडेय का आरोप है कि जिन शिक्षकों ने उनके साथ अभद्रता की है वह अकादमिक काउंसिल के सदस्य नहीं हैं।

जेएनयू में योग पाठ्यक्रम को मिली मंज़ूरी

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में शुक्रवार को आयोजित हुई एसी बैठक में योग पाठ्यक्रम को मंजूरी मिल गई है। वहीं बैठक में स्पेशल सेंटर फॉर डिजास्टर रिसर्च बनाने पर सहमति बनी है। एक सदस्य ने बताया कि अभी तक विश्वविद्यालय में डिजास्टर रिसर्च को एक विषय के तौर पर पढ़ाया जा रहा था, जिसे अब सेंटर में बदल दिया गया है। जबकि योग पाठ्यक्रम को भी मंजूरी मिल गई है।