Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

यूपी चुनाव में भाजपा में सबसे ज्यादा ‘बाहुबली’

वैसे तो सभी पार्टियां अपराध के खिलाफ एक ही सुर में बोलती दिखती हैं, लेकिन जब बात चुनाव मैदान में उतरने की आती है तो इन्हीं पार्टियों की सच्चाई सामने आने लगती है। हर चुनाव की तरह इस बार सभी पार्टियां जोर शोर से ‘बाहुबली’ दागी उम्मीदवारों को टिकट दे रही हैं।

उत्तर प्रदेश के पहले चरण की 73 सीटों की बात करें तो यहां 20 फीसदी प्रत्याशियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। चाहे भाजपा हो, सपा, बसपा या कांग्रेस, रालोद सभी पार्टियों ने आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों को दिल खोलकर टिकट दिया है। करोड़पति उम्मीदवारों की बात करें तो बहुजन समाज पार्टी ने सबसे ज्यादा 66 ‘रईस’ प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। हालांकि 2012 की तुलना में इस बार के चुनावों में दागियों को टिकट देने में कमी देखने को मिली है। 2012 में इसी प्रथम चरण की सीटों पर 32 फीसदी दागी मैदान में उतरे थे।एसोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और यूपी इलेक्शन वॉच ने पहले चरण की 73 सीटो के लिए 839 प्रत्याशियों में से 836 के हलफनामों का ब्यौरा जारी किया है।

इसके अनुसार भाजपा के 73 प्रत्याशियों में से 40 फीसदी यानी 29 के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। ये ऐसे अपराध हैं, जिनमें पांच या उससे ज्यादा की सजा हो सकती है। इसी तरह बसपा के 73 में से 38 फीसदी यानी 28 प्रत्याशियों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं समाजवादी पार्टी की बात करें तो उसके 51 प्रत्याशियों में से 15 यानी 29 फीसदी के खिलाफ गंभीर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। रालोद के 57 प्रत्याशियों में से 33 फीसदी यानी 19 के खिलाफ और कांग्रेस के 24 में से 25 फीसदी यानी 6 प्रत्याशियों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। गौर करने वाली बात ये है कि पहले चरण के 26 विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं, जहां जहां तीन या उससे ज्यादा उम्मीदवार आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं। एडीआर ने इन्हें दागी बाहुल्य निर्वाचन क्षेत्र के रूप में चिन्हित किया है। यही नहीं पांच प्रत्याशी ऐसे भी हैं, जिन पर दुष्कर्म का मामला दर्ज है, जबकि 15 हत्या के मामले में आरोपी हैं। करोड़पति नेताओं की बात करें तो पहले चरण में कुल 14 प्रतिशत प्रत्याशियों की संपत्ति पांच करोड़ से ज्यादा है, जबकि 12 फीसदी लोगों की आय दो से पांच करोड़ तक है। इसके अनुसार बसपा के 73 में से 66 प्रत्याशी करोड़पति हैं।भाजपा के 73 में से 61 प्रत्याशी, सपा के 51 में से 40 प्रत्याशी और कांग्रेस के 24 में से 18 प्रत्याशी करोड़पति हैं।