Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Search in posts
Search in pages
Filter by Categories
home
margin
slider
top three
top-four
travel
Uncategorized
viral
young india
कल्चर
दुनिया
देश
लीक से हटकर
विशेष
वीडियो
सटीक
सियासत
हाशिया
हेल्थ

मध्यप्रदेशः 51 हज़ार पेंशन खाते फर्जी , हर महीने दो बार ट्रांसफर हाे रहा था पैसा

सामाजिक न्याय और नि:शक्तजन कल्याण विभाग ने जांच में प्रदेश में ऐसे करीब 51 हजार (50,746) पेंशन हितग्राहियों के बचतखाते पकड़े हैं, जिनमें पेंशन की राशि दो या उससे अधिक बार ट्रांसफर की जा रही थी। यानी इन सभी खातों में डुप्लीकेसी थी। हितग्राही की एक से ज्यादा समग्र आईडी बताकर दो पेंशन का लाभ लेते रहे। जबकि एक हितग्राही एक पेंशन का लाभ ले सकता है। इन खातों में पिछले दो साल में 2 करोड़ रु. से ज्यादा ट्रांसफर किए गए। फिलहाल मामला अब पकड़ में आया है। विभाग ने राशि वसूलने के लिए संबंधित बैंकों को लिखा है। यदि हितग्राही अतिरिक्त पेंशन राशि को वापस नहीं करते हैं तो विभाग उनके खाते ब्लॉक करेगा। साथ ही उनकी पेंशन भी रोक देगा।

ऐसे सामने आया मामला : विभाग 37 लाख से अधिक पेंशन हितग्राहियों को सिंगल क्लिक पेंशन योजना से भुगतान करता है। विभाग ने इसके लिए हितग्राहियों के खातों की जांच करवाई। इसमें 50 हजार 746 डुप्लीकेट बचत खाते पाए गए। विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह ने सभी कलेक्टर्स और विभिन्न निकायों के सीईओ को जांच कर संबंधितों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश भी दिए। जांच में ऐसे बचत खाते भी मिले, जो जनपद पंचायत और नगरीय निकायों में दर्ज हैं। इन दोनों जगह की समग्र आईडी होने से हितग्राही दोनों स्थानों की पेंशन ले रहे थे।

 शाह ने कलेक्टर्स को लिखे पत्र में कहा कि जनपद पंचायत और नगरीय निकायों द्वारा पेंशन स्वीकृति और बचत खाता अपडेशन का काम गंभीरता से नहीं किया गया। अब बचत खाता नंबर के आधार पर हितग्राही को सर्च कर भौतिक सत्यापन किया जा रहा है। पेंशन पोर्टल पर हितग्राही का केवल एक ही बचत खाता रहेगा।

 सामाजिक न्याय विभाग उपसंचालक मनोज बाथम के मुताबिक, 90 वर्ष से अधिक आयु के पेंशन हितग्राहियों का भौतिक सत्यापन चल रहा है। रिपोर्ट आती जा रही है। जिन डुप्लीकेट खातों में ज्यादा राशि गई है उसके लिए बैंकों को लिखा गया है। इस राशि का अगली पेंशन राशि में समायोजन किया जाएगा।